सुविचार – प्रेमजाल (अनमोल वचन – Anmol Vachan) ! Suvichar – Premjaal (Hindi Quotes)


दोस्तों आज हम आपके साथ “सुविचार – प्रेमजाल ( अनमोल वचन – Anmol Vachan )” को करने जा रहे हैं । ये एक ऐसी कहानी है जो कुछ हद तक जीवन की सचाई को दर्शाती है । जो लड़के या लड़कियां अपने माता-पिता की इज़्ज़त का जरा सा भी ख्याल ना रखकर घर से भाग जाते हैं या जो प्यार में इतने अंधे हो चुके है, जिनको अच्छे-बुरे का फ़र्क़ भी समझ में नहीं आता । उम्मीद है दोस्तों आपको ये पसंद आएगी ।


पापा…..वैभव बहुत ही अच्छा लड़का है मैं उससे ही शादी करूंगी वरना……!!
पापा बेटी के ये शब्द सुन कर एक घड़ी तो चौंक रह गए । फिर सामान्य होते हुए बोले ठीक है,
लेकिन….पहले मैं तुम्हारे साथ मिलकर उसकी परीक्षा लेना चाहता हूँ, तभी होगा तुम्हारा विवाह वैभव से…..कहो मंज़ूर है ?
बेटी चहकते हुए बोली हाँ मंज़ूर है मुझे…. । वैभव से अच्छा जीवनसाथी और कोई हो ही नहीं सकता । वो हर परीक्षा में सफल होगा । आप नहीं जानते पापा वैभव को !!

अगले दिन जब नेहा कॉलेज में वैभव से मिली तो उसका मुँह लटका हुआ था ।
वैभव मुस्कुराते हुए बोला क्या बात है “स्वीट हार्ट”….
तुम मुस्कुरा दो वरना मैं अपनी जान दे दूंगा !!
नेहा झुंझलाते हुए बोली वैभव मज़ाक छोडो :
पापा ने हमारे विवाह के लिए इंकार कर दिया है अब क्या होगा ??

 

वैभव हवा में बात उड़ाते हुए बोला : होगा क्या….
हम घर से भाग जायेंगे और कोर्ट मैरिज करवा कर वापिस आए जायेंगे !!
नेहा उसे बीच में टोकते हुए बोली : पर इन सब के लिए तो पैसों की जरूरत होगी,,,, क्या तुम मैनेज कर लोगे ??
वैभव बोला : ओह…..बस यही दिक्कत है, मैं तुम्हारे लिए जान दे सकता हूँ, पर इस वक़्त मेरे पास पैसे नहीं है !
हो सकता है, घर से भागने के बाद हमे कहि होटल में छिप कर रहना पड़े, तुम ऐसा करो तुम्हारे पास और तुम्हारे घर में जो कुछ भी सोना-चाँदी-नकदी तुम्हारे हाथ लगे, तुम ले आना.. वैसे मैं भी कोशिश करूंगा ।
और कल तुम घर से ये कहकर आना कि तुम कॉलेज जा रही हो और यहां से हम फरार हो जायेंगे अपने सपनों को सच करने के लिए !!

 

नेहा भोली बनते हुए बोली : पर इससे तो…… मेरे और मेरे परिवार की बहुत बदनामी होगी !!
वैभव लापरवाही के साथ बोला “बदनामी”,, वो तो होती रहती है !! तुम इसकी परवाह मत करो ।
वैभव आगे कुछ बोलता, इसके पहले ही नेहा ने उसके गाल पर तमाचा रख दिया ।
नेहा भड़कते हुए बोली : हर बात पर जान देने को त्यार बद्तमीज़ तू जिसे प्यार करता है, तुझे उसकी और उसके परिवार कि इज़्ज़त का जरा सा भी ख्याल नहीं । प्रेम का दावा करता है…. बद्तमीज़, मैं वो अंधी प्रेमिका नहीं, जो अपने पिता कि इज़्ज़त कि धज्जियां उड़ा कर अय्याशी करती फिरूं !!
कौन से सपने सच हो जायेंगे, जब मेरे भाग जाने के बाद मेरे मम्मी-पापा जहर खाकर प्राण दे देंगे । मैं अपने पिता कि इज़्ज़त नीलाम कर के तेरे साथ भाग जाऊंगी, तो समाज में और ससुराल में मेरी बड़ी इज़्ज़त होगी ??
वे अपने सर माथे पर बिठाएंगे ??
और सपनों कि दुनिया इस समाज में कहीं अलग होगी ?? आखिर हमें रहना तो इसी समाज में ही है ।
घर से भागकर क्या आसमान में रहेंगे ?? है कोई जवाब तेरे पास ??

 

पीछे से ताली कि आवाज़ सुन कर वैभव ने मुड़कर देखा तो वो पहचान न पाया ।
नेहा दौड़कर उनके पास चली गयी और आंसू पोंछते हुए बोली….
पापा आप ठीक कह रहे थे !
ये प्रेम नहीं केवल जाल है, जिसमे मेरी जैसी हज़ारों लड़कियां फंसकर अपना जीवन बर्बाद कर डालती है ।

सन्देश :- बेशक….जीवनसाथी चुनें,,
लेकिन जल्दबाजी और आवेश में कोई भी निर्णंय लेने से जीवन बर्बाद हो जाता है !!
और सोच समझकर सबको विशवास में लिया हुआ निर्णय जीवन आन्दमय होता है !!
और जब तक जीवन में आनंद नं हो सपने कभी सच नहीं हो सकते ।।

दोस्तों आपको ये Post कैसी लगी । हमारा मनोबल बढ़ाने के लिए हमें Comment के माध्यम से जरूर बताएं और ज्यादा से ज्यादा इस Post को Share करें ताकि जो लड़के / लड़कियां प्यार में अंधे हो चुके हैं, वो भी सही / गलत का फ़र्क़ समझ सके ।

जय श्री कृष्णा


जरुर पढ़े:-

सुविचार – “वाह रे दुनिया” ( अनमोल वचन – Anmol Vachan )

कुछ प्रेरणादायक अनमोल वचन { in Hindi }

सुविचार – मौन ( अनमोल वचन – Anmol Vachan ) ! Suvichar – Moun – Silence

 

दोस्तों आपको यह Post “सुविचार – प्रेमजाल ( अनमोल वचन – Anmol Vachan )” कैसी लगी हमे Comment के माध्यम से जरूर बतायें । ऐसी ही अच्छी अच्छी Post पड़ने के लिए Bell Icon को दबा कर हमे Subscribe जरूर करें । जिसका फायदा यह है कि जब भी हम कोई नया Article Upload करेंगे तो आपको उस का Notification मिल जायेगा । आपका दिन शुभ हो ।



 हमारा उद्देश्य ज्ञान को बांटना (share) है और यह काम हम अकेले नहीं कर सकते क्योंकि इस दुनिया का सारा ज्ञान हमारे पास नहीं है और हम भी आपकी तरह एक ही सामान्य व्यक्ति है जो दिन में खुली आँखों से सपने देखते है और उन्हें पूरा करने के लिए कोशिश करते रहते है | दोस्तों ज्ञान बांटने से बढ़ता है इसलिए आप भी HINDI के इस अनमोल मंच से जुड़े एंव अपने ज्ञान को हमारे साथ share करें, हम आपके द्वारा भेजे गए सभी अच्छे लेखों को Website पर publish करेंगे | आप अपने लेख हमें Whattsapp Number ( 85569-78342 ) पर भेज सकते है ।



 

Share Now

Post Author: sudhir singhmar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *