Thought of The Day in Hindi । आज के अनमोल विचार- Hindi Quotes

एक बार राधा ने कृष्णा से पुछा

  •  एक बार राधा जी ने कृष्णा से पूछा : 
          गुस्सा क्या है..? 

 

»»     बहुत खुबसूरत जवाब मिला : 

             किसी की गलती की सजा 
             खुद को देना..!

  • एक बार राधा ने कृष्णा से पूछा : 
         दोस्त और प्यार में क्या
         फर्क होता है..?

 

»»     कृष्णा हंस कर बोले :
           प्यार सोना है.. 
           और दोस्त हीरा.. 
           सोना टूट कर दुबारा बन सकता है.. 
           मगर हीरा नहीं..!

  •  एक बार राधा जी ने कृष्णा से पूछा : 
          मैं कहाँ कहाँ हूँ..?   

 

»»     कृष्णा ने कहा : 

            तुम मेरे दिल में.. 
            साँस में.. 
            जिगर में.. 
           धड़कन में.. 
           तन में.. 
           मन में.. 
           हर जगह हो..!

  • ✍🏼 फिर राधा जी ने पूछा : 
          मैं कहाँ नहीं हूँ..?

»»     तो कृष्णा ने कहा : 
            मेरी किस्मत में..!

  • ✍🏼 राधा ने श्री कृष्णा से पूछा : 
         प्यार का असली मतलब क्या 
         होता है..?

 »»    श्री कृष्णा ने हंस कर कहा : 
           जहाँ मतलब होता है..
           वहां प्यार ही कहाँ होता है..!

  •  एक बार राधा ने कृष्णा से पूछा :   आपने मुझे प्रेम किया..
          लेकिन शादी रुकमणी से की.. 
          ऐसा क्यों..?

 »»     कृष्णा ने हँसते हुए कहा : राधे ! 
           शादी में दो लोग चाहिए…. 
          और हम तो एक हैं….।

😀😀😀😀😀😀😃😃😃


Read Also — राधा के कृष्णा से कुछ कड़वे प्रश्न जो सोचने पर मजबूर कर देते हैं । 


  • अभिमान और नम्रता  :-
    .            〰

      एक बार नदी को अपने पानी के 
       प्रचंड प्रवाह पर घमंड हो गया.
              नदी को लगा कि 
         मुझमें इतनी ताकत है कि मैं 
  पहाड़, मकान, पेड़, पशु, मानव आदि 
     सभी को बहाकर ले जा सकती हूँ.

  एक दिन नदी ने बड़े गर्वीले अंदाज में 
         समुद्र से कहा बताओ ! 
      मैं तुम्हारे लिए क्या-क्या लाऊँ ?
        मकान, पशु, मानव, वृक्ष
           जो तुम चाहो, उसे 
   मैं जड़ से उखाड़कर ला सकती हूँ.

            समुद्र समझ गया कि 
        नदी को अहंकार हो गया है.
            उसने नदी से कहा  
            यदि तुम मेरे लिए 
       कुछ लाना ही चाहती हो, तो 
   थोड़ी सी घास उखाड़कर ले आओ.

  नदी ने कहा  बस  इतनी सी बात
                       अभी लेकर आती हूँ.

नदी ने अपने जल का पूरा जोर लगाया 
          पर  घास नहीं उखड़ी.
  नदी ने कई बार जोर लगाया, लेकिन 
         असफलता ही हाथ लगी.

         आखिर नदी हारकर …
   समुद्र के पास पहुँची और बोली 
   मैं वृक्ष, मकान, पहाड़ आदि तो 
   उखाड़कर ला सकती हूँ. मगर
जब भी घास को उखाड़ने के लिए 
जोर लगाती हूँ, तो वह नीचे की ओर 
  झुक जाती है और मैं खाली हाथ 
       ऊपर से गुजर जाती हूँ.

समुद्र ने नदी की पूरी बात ध्यान से सुनी
          और मुस्कुराते हुए बोला 
          जो पहाड़ और वृक्ष जैसे
                कठोर होते हैं,
   वे आसानी से उखड़ जाते हैं.
किन्तु …
           घास जैसी विनम्रता
           जिसने सीख ली हो,
      उसे प्रचंड आँधी-तूफान या
   प्रचंड वेग भी नहीं उखाड़ सकता.  


Read Also — वह जो आपने 12 सालो की पढ़ाई में भी नहीं सीखा होगा | 


        जीवन में खुशी का अर्थ
          लड़ाइयाँ लड़ना नहीं, 
               बल्कि 
            उन से बचना है.
      कुशलता पूर्वक पीछे हटना भी 
         अपने आप में एक जीत है.

     क्योकि 
     अभिमान  फरिश्तों को भी
                     शैतान बना देता है,
      और 
     नम्रता  साधारण व्यक्ति को भी
                    फ़रिश्ता बना देती है.


👁👁
                   *आँखे*
   *दुनिया की तमाम मुसीबत*
             *समेट लेती हैं,*

           *जब रोती है तो* 
           *💓दिलो को*
             *हिला देती हैं,*

               *और जब…*
                    *बंद*
               *होती है तो*
                 *दुनिया*
          *को रुला देती हैं…!*


*रगो में ब्लड ग्रुप कोई सा भी हो,*

*दिलो-दिमाग़ में हमेशा ‘B+’ होना चाहिए।*


 *ख़्वाईशो के बोझ में बशर* 
*तू क्या क्या कर रहा है..*
*इतना तो जीना भी नहीं*
*जितना तू मर रहा है…*🙏🙏


*रास्ते पर कंकड़ ही कंकड़ हो तो भी*
*एक अच्छा जूता पहनकर उस पर चला जा सकता है*,
*लेकिन एक अच्छे जुते के अंदर  एक भी कंकड़ हो तो*
*एक अच्छी सड़क पर कुछ कदम चलना भी मुश्किल है*,
” *अर्थात हम बहार की चुनोतियों से नहीं*”
” *बल्कि अन्दर की कमजोरियों से हार जाते है* “

      *🙏जय श्री कृष्ण🙏*


*👣 Զเधे -Զเधे 👣*
*किस्मत करवाती है*
   *कटपुतली का खेल जनाब!*
                  *वरना,*

      *ज़िन्दगी के रंगमंच पर कोई भी*
     *कलाकार कमज़ोर नहीं होता!!*

       *मिट्टी के दीपक सा*
           *है ये जीवन..*

             *तेल खत्म*
             *खेल खत्म…
🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿🌿


जरुर पढ़े: 

 

 Top 25+ प्रेरणादायक अनमोल वचन !

विश्व के सर्वश्रेष्ठ अनमोल विचारों का विशाल संग्रह Hindi Quotes

ज़िंदगी — भीड़ से अलग निकलना ! अनमोल वचन

 

दोस्तों आपको यह Post किसी लगी हमे Comment के माध्यम से जरूर बतायें । ऐसी ही अच्छी अच्छी Post पड़ने के लिए Bell Icon को दबा कर हमे Subscribe जरूर करें । जिसका फायदा यह है कि जब भी हम कोई नया Article Upload करेंगे तो आपको उस का Notification मिल जायेगा । आपका दिन शुभ हो ।



NOTE ⇒ हमारा उद्देश्य ज्ञान को बांटना (share) है और यह काम हम अकेले नहीं कर सकते क्योंकि इस दुनिया का सारा ज्ञान हमारे पास नहीं है और हम भी आपकी तरह एक ही सामान्य व्यक्ति है जो दिन में खुली आँखों से सपने देखते है और उन्हें पूरा करने के लिए कोशिश करते रहते है | दोस्तों ज्ञान बांटने से बढ़ता है इसलिए आप भी HINDI के इस अनमोल मंच से जुड़े एंव अपने ज्ञान को हमारे साथ share करें, हम आपके द्वारा भेजे गए सभी अच्छे लेखों को Website पर publish करेंगे | आप अपने लेख हमें Whattsapp Number ( 85569-78342 ) पर भेज सकते है |



Share Now

Post Author: sudhir singhmar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *