( SPECIAL SUNDAY ) ज़िंदगी — भीड़ से अलग निकलना ! अनमोल वचन ( Anmol Vachan )



युधिष्ठर को पूर्ण आभास था,
कि कलयुग में क्या होगा ?
पूरा अवश्य पढें।
अच्छा लगेगा।

⇓⇓       ⇓⇓       ⇓⇓       ⇓⇓       ⇓⇓       ⇓⇓       ⇓⇓       ⇓⇓       ⇓⇓       ⇓⇓       ⇓⇓ 

पाण्डवों का अज्ञातवाश समाप्त होने में कुछ समय शेष रह गया था।

पाँचो पाण्डव एवं द्रोपदी जंगल मे छूपने का स्थान
ढूंढ रहे थे।

उधर शनिदेव की आकाश मंडल से पाण्डवों पर नजर पड़ी शनिदेव के मन विचार आया कि इन 5 में बुद्धिमान कौन है परीक्षा ली जाय।

शनिदेव ने एक माया का महल बनाया कई योजन दूरी में उस महल के चार कोने थे, पूरब, पश्चिम, उतर, दक्षिण।

अचानक भीम की नजर महल पर पड़ी
और वो आकर्षित हो गया ,

भीम, यधिष्ठिर से बोला- भैया मुझे महल देखना है भाई ने कहा जाओ ।

भीम महल के द्वार पर पहुंचा वहाँ शनिदेव दरबान के रूप में खड़े थे,

भीम बोला- मुझे महल देखना है!

शनिदेव ने कहा- महल की कुछ शर्त है ।

1- शर्त महल में चार कोने हैं आप एक ही कोना देख सकते हैं।
2-शर्त महल में जो देखोगे उसकी सार सहित व्याख्या करोगे।
3-शर्त अगर व्याख्या नहीं कर सके तो कैद कर लिए जाओगे।

भीम ने कहा- मैं स्वीकार करता हूँ ऐसा ही होगा ।

और वह महल के पूर्व छोर की ओर गया ।

वहां जाकर उसने अद्भूत पशु पक्षी और फूलों एवं फलों से लदे वृक्षों का नजारा देखा,

आगे जाकर देखता है कि तीन कुंए है अगल-बगल में छोटे कुंए और बीच में एक बडा कुआ।

बीच वाला बड़े कुंए में पानी का उफान आता है और दोनों छोटे खाली कुओं को पानी से भर देता है। फिर कुछ देर बाद दोनों छोटे कुओं में उफान आता है तो खाली पड़े बड़े कुंए का पानी आधा रह जाता है इस क्रिया को भीम कई बार देखता है पर समझ नहीं पाता और लौटकर दरबान के पास आता है।

दरबान – क्या देखा आपने ?

भीम- महाशय मैंने पेड़ पौधे पशु पक्षी देखा वो मैंने पहले कभी नहीं देखा था जो अजीब थे। एक बात समझ में नहीं आई छोटे कुंए पानी से भर जाते हैं बड़ा क्यों नहीं भर पाता ये समझ में नहीं आया।

दरबान बोला आप शर्त के अनुसार बंदी हो गये हैं और बंदी घर में बैठा दिया।

अर्जुन आया बोला- मुझे महल देखना है, दरबान ने शर्त बता दी और अर्जुन पश्चिम वाले छोर की तरफ चला गया।

आगे जाकर अर्जुन क्या देखता है। एक खेत में दो फसल उग रही थी एक तरफ बाजरे की फसल दूसरी तरफ मक्का की फसल ।

बाजरे के पौधे से मक्का निकल रही तथा
मक्का के पौधे से बाजरी निकल रही । अजीब लगा कुछ समझ नहीं आया वापिस द्वार पर आ गया।

दरबान ने पूछा क्या देखा,

अर्जुन बोला महाशय सब कुछ देखा पर बाजरा और मक्का की बात समझ में नहीं आई।

शनिदेव ने कहा शर्त के अनुसार आप बंदी हैं ।

नकुल आया बोला
मुझे महल देखना है ।

फिर वह उत्तर दिशा की और गया वहाँ उसने देखा कि बहुत सारी सफेद गायें जब उनको भूख लगती है तो अपनी छोटी बछियों का दूध पीती है उसे कुछ समझ नहीं आया द्वार पर आया ।

शनिदेव ने पूछा क्या देखा ?

नकुल बोला महाशय गाय बछियों का दूध पीती है यह समझ नहीं आया तब उसे भी बंदी बना लिया।

सहदेव आया बोला मुझे महल देखना है और वह दक्षिण दिशा की और गया अंतिम कोना देखने के लिए क्या देखता है वहां पर एक सोने की बड़ी शिला एक चांदी के सिक्के पर टिकी हुई डगमग डोले पर गिरे नहीं छूने पर भी वैसे ही रहती है समझ नहीं आया वह वापिस द्वार पर आ गया और बोला सोने की शिला की बात समझ में नहीं आई तब वह भी बंदी हो गया।

चारों भाई बहुत देर से नहीं आये तब युधिष्ठिर को चिंता हुई वह भी द्रोपदी सहित महल में गये।

भाइयों के लिए पूछा तब दरबान ने बताया वो शर्त अनुसार बंदी है।

युधिष्ठिर बोला भीम तुमने क्या देखा ?

भीम ने कुंऐ के बारे में बताया

तब युधिष्ठिर ने कहा- यह कलियुग में होने वाला है एक बाप दो बेटों का पेट तो भर देगा परन्तु दो बेटे मिलकर एक बाप का पेट नहीं भर पायेंगे।

भीम को छोड़ दिया।

अर्जुन से पुछा तुमने क्या देखा ??

उसने फसल के
बारे में बताया

युधिष्ठिर ने कहा- यह भी कलियुग में होने वाला है।
वंश परिवर्तन अर्थात ब्राह्मण के घर शूद्र की लड़की और शूद्र के घर बनिए की लड़की ब्याही जायेंगी।

अर्जुन भी छूट गया।

नकुल से पूछा तुमने क्या देखा तब उसने गाय का वृतान्त बताया ।

तब युधिष्ठिर ने कहा- कलियुग में माताऐं अपनी बेटियों के घर में पलेंगी बेटी का दाना खायेंगी और बेटे सेवा नहीं करेंगे ।

तब नकुल भी छूट गया।

सहदेव से पूछा तुमने क्या देखा, उसने सोने की शिला का वृतांत बताया,

तब युधिष्ठिर बोले- कलियुग में पाप धर्म को दबाता रहेगा परन्तु धर्म फिर भी जिंदा रहेगा खत्म नहीं होगा।।  आज के कलयुग में यह
सारी बातें सच
साबित हो रही है ।।

मुझे अच्छा लगा।
आपके समक्ष रखा है ।
मैं आशा करता हूँ
🙏 कि आप इसे और भी लोगों तक पहुचायेंगे !!!!!!!

दोस्तों आपको यह Post किसी लगी हमे Comment के माध्यम से जरूर बतायें । ऐसी ही अच्छी अच्छी Post पड़ने के लिए Bell Icon को दबा कर हमे Subscribe जरूर करें । जिसका फायदा यह है कि जब भी हम कोई नया Article Upload करेंगे तो आपको उस का Notification मिल जायेगा । आपका दिन शुभ हो ।

👏🏻👏🏻  जयश्रीकृष्ण, जय श्री राधे, जय जय श्री राम 👏🏻👏🏻🚩🚩🚩🚩🚩🚩


 *उस शांति को खोजना, जिसमें कोई विघ्‍न न डाल सके*
🌼🌼🌼🌼🌼

 इसका यह अर्थ हुआ कि विघ्‍न से बच कर मत खोजना, विघ्‍न के बीच ही खोजना। बच्चा शोर न भी मचा रहा हो, तो और मोहल्ले के बच्चों को इकट्ठा कर लेना और कहना कि तुम सब शोर मचाओ, मैं ध्यान करता हूं। और जिस दिन तुम पाओ कि बच्चे शोर कर रहे हैं और तुम्हारा ध्यान चल रहा है, उस दिन तुम समझना कि यह तुम्हारा है। पहाड़, हिमालय मत खोजना, ठीक बीच बाजार में बैठ कर ध्यान करना। क्योंकि पहाड़ धोखा दे सकता है। पहाड़ शांति देता है, इसलिए धोखा दे सकता है। पहाड़ से बचना, बाजार में ही शांति खोजना। जिस दिन बाजार में ही तुम शांति को पा लोगे, उस दिन अब तुमसे कोई भी छीन न सकेगा। क्योंकि जो छीन सकता था, उसी के बीच तुमने पा लिया है।


*”आँसू न होते तो आँखे इतनी खुबसूरत न होती,*
*दर्द न होता तो खुशी की कीमत*
*न होती|*
*अगर मिल जाता सब-कुछ केवल चाहने  से,*
*तो दुनिया में _”ऊपर वाले”_की जरूरत ही न होती!!*     ✍


😊😊: .   *🌿 रामचरितमानस चिंतन 🌿*

*🍃परहित बस जिन्ह के मन माहीं।*
*🍃तिन्ह कहुँ जग दुर्लभ कछु नाहीं॥*

*भावार्थ:- जिनके मन में सदैव दूसरे का हित करने की अभिलाषा रहती है अथवा जो सदा दूसरों की सहायता करने में लगे रहते हैं, उनके लिए सम्पूर्ण जगत्‌ में कुछ भी (कोई भी गति) दुर्लभ नहीं है॥*


*यक़ीन करना सीखो..*
*शक तो सारी दुनिया*
*करती है…!*
. *जिन्दगी जब देती है,*
*तो  एहसान  नहीं  करती*
*और जब लेती है तो,*
*लिहाज  नहीं  करती*


*दुनिया  में  दो  ‘पौधे’  ऐसे  हैं*
*जो कभी मुरझाते नहीं*
*और*
*अगर जो मुरझा गए तो*
*उसका कोई इलाज नहीं।*
*पहला –‘नि:स्वार्थ प्रेम’*
*और*
*दूसरा –‘अटूट विश्वास’*

 


       *क्या लाईन लिखी है…..*

*✍🏻बंद किस्मत के लिये कोई ताली नही होती।..*
*सुखी उम्मीदों की कोई डाली नही होती।*
*जो झूक जाए माँ -बाप के चरणों में ।…*
*उसकी झोली कभी खाली नही होती*


*रुबरु मिलने का मौका नही मिलता,*
*इसीलिए*
*शब्दो से नमन कर लेता हूँ अपनो को . .. !!!*                                                        
*प्रत्येक व्यक्ति किसी न किसी रूप में मुझसे श्रेष्ठ है। अतः मैं सभी श्रेष्ठ व्यक्तिओ को हृदय की गहराइयों से प्रणाम करता हूं…….!!!!*


*उड़ने दो मिट्टी को आखिर कहाँ तक उड़ेगी….*

*💐हवाओं ने जब साथ छोड़ा तो जमीन पर ही गिरेगी…..*

*♦जो लोग आलोचना से डरते हैं, वे जीवन में कुछ नहीं कर पाते हैं।*
💦💧💦
*सफर जितना कठिन होता है, मंजिल उतनी ही शानदार होती है।♦*


तलाश जिंदगी की थी*
*दूर तक निकल पड़े,,,,*

*जिंदगी मिली नही*
*तज़ुर्बे बहुत मिले,;;*


*किसी ने मुझसे कहा कि…*
*तुम इतना ख़ुश* *कैसे रह लेते हो?*
*तो  मैंने कहा कि…*.
*मैंने जिंदगी की गाड़ी से…*
*वो साइड ग्लास ही हटा दिये…*
*जिसमेँ पीछे छूटते रास्ते और..*
*बुराई करते लोग नजर आते थे..*


  *  आज  का  विचार  *  

🎋 *जिन्दगी   को    जीओ,   उसे*
*समझने की कोशिश ना करो*
🎋 *चलते  वक्त   के  साथ  चलो,*
*वक्त को बदलने की कोशिश*
*न करो….*
🎋 *दिल  खोल   कर   सांस  लो,*
*अंदर   ही   अंदर   घुटने  की*
*कोशिश न करो….!*
🎋 *कुछ  बातें  ईश्वर   पर   छोड़*
*दो, सब कुछ  खुद सुलझाने*
*की कोशिश न करो……!!*


*🌪🌪एक मिट्टी की मूर्तियां बनाने वाला  (कुम्हार) ईश्वर से कहता है….._*
*⚘_”हे प्रभु तू भी एक कलाकार है और मैं भी एक कलाकार हूँ,_*
*⚘_तूने मुझ जैसे असंख्य पुतले बनाकर इस धरती पर भेजे हैं,_*
*⚘_और मैंने तेरे असंख्य पुतले बना कर इस घरती पर बेचे हैं।_*
*⚘_पर ईश्वर उस समय बड़ी शर्म आती है, जब तेरे बनाये हुए पुतले आपस में लड़ते हैं_,*
*⚘_और मेरे बनाये हुए  पुतलों के सामने लोग शीश झुकाते हैं”_..*     🙏🙏
*ध्यान से पढ़े कितना बड़ा सच है.*


10 कड़वी बातें, जो आपको पूरी तरह Motivate कर देंगी

दोस्तों मैं आपके साथ 10 बाते शेयर करने जा रहा हूँ, जो आपको अन्दर से काफी motivate कर देंगी:-

1.दोस्तों जब कभी लोग आप पर आवाज़ उठाये या या आपकी बुराई करे तो याद रखना “दर्शक शोर मचाते है, खिलाड़ी नहीं”
2.जब कभी आप जीतते हो, आप सीखते हो हारते नहीं।
3.जब दुनियां कहती है कि अब कुछ नहीं हो सकता वही सही समय होता है कुछ कर दिखाने का।
4.उम्मीद कामयाबी की पहली सीढ़ी है, उम्मीद खत्म तो सब खत्म।

5.मूर्खों से तारीफ सुनने से कहीं ज्यादा अच्छा है,कि बुद्धिमान की डांट सुनो।
6.जब हम कुछ समझ नहीं आता तो उसे बार बार पूछने पर हम सिर्फ 5 मिनिट के लिए मूर्ख कहलाते है, हमेशा के लिए नहीं। लेकिन जो पूछता ही नहीं वो ज़िन्दगी भर के लिए मूर्ख रहता है।
7. सफलता अगर भोजन है, तो मेहनत, लगन, विश्वास, और कष्ट मसाले है, इनके बिना सफलता फीकी है
8.विश्वास वो शक्ति है, जिस से उजड़ी हुई दुनिया में भी प्रकाश लाया जा सकता है|

9.मैदान में हारा हुआ इंसान फिर से जीत सकता है,लेकिन मन से हारा हुआ इंसान कभी नहीं जीत सकता। “मन के हारे हार, मन के जीते जीत”
10.एक तरफ वो है जो आप करना चाहते हो, और और दूसरी तरफ वो दुनिया आपसे करवाना चाहते है, अब आपको सोचना है, कि आपको करना क्या है ?


मिलो किसी से ऐसे कि
ज़िन्दगी भर की
पहचान बन जाये,
पड़े कदम जमीं पर ऐसे कि
लोगों के दिल पर
निशान बन जाये..
जीने को तो ज़िन्दगी
यहां हर कोई जी लेता है,
लेकिन…..
जीयो ज़िन्दगी ऐसे कि
औरों के लब की मुस्कान
बन जाये …🖊


: *सब्र का घूंट दूसरो को पिलाना कितना आसान लगता है*

*ख़ुद पियो तो क़तरा क़तरा ज़हर लगता है*


*सुना है जब वो मायूस होते हैं तो हमें बहुत याद करते हैं;*

*तू ही बता ऐ खुदा अब दुआ उनकी खुशी की करुँ या मायूसी की।*

❣❣❣❣❣


🌹✍🏻 *तालाब सदा कुँऐ से*
*सैंकड़ों गुना बड़ा होता*
*है फिर भी लोग कुँऐ का*
*ही पानी पीते हैं.,*
*🌹✍ क्योंकि कुँऐ में गहराई*
*और शुद्धता होती है…!*
*🌹✍  मनुष्य का बड़ा होना*
*अच्छी बात है., लेकिन*
*उसके व्यक्तित्व में*
*गहराई और विचारों में*
*शुद्धता भी होनी चाहिए*
*तभी वह महान बनता है…!!                        😊🍀🙏 *शुभ प्रभात*🙏🍀😊
🍁 *आप का दिन मंगलमय हो*🍁
💐🙏🏻🙏🏻💐


*दुनियां  से  बात  करने  के  लिये*
*फोन 📞की जरूरत होती है !*
🌹  और  🌹
*प्रभु 🙏 से बात करने के लिये*
*मौन 😞की जरूरत होती है।।*
फोन  से  बात  करने  पर
बिल देना पड़ता है ,
और
ईश्वर  से  बात  करने  पर
दिल देना पड़ता है।🌿🌺🍂
*”माया” को चाहने वाला,*
*”बिखर” जाता है.”*
*भगवान को चाहने वाला*,
*”निखर” जाता है*.

😊😊:


 *दो चीजों को कभी व्यर्थ*
*नहीं जाने देना चाहिए*…..

          *अन्न के कण को*
*”और”*
*आनंद के क्षण को*

*हमेशा मुस्कुराते रहिए*….😊
*कभी अपने लिये कभी अपनों के लिये*

             *आपका दिन शुभ हो*
🌷  🌷


A Real Facts of Life*

1. सोने की लंका, पुष्पक विमान तो रावण के पास था,राम ने तो वनवास ही देखा ना !
2. राजपाट तो कंस के पास था, जेल में तो कृष्ण ने ही जन्म लिया था ना !
3. राजमहल में तो कौरव रहते थे, वनवास तो पांडवों को ही भोगना पड़ा था ना!
4. राहु केतु अमृत पीने के बाद भी राक्षस हैं और शिवजी विष पीने के बाद भी देवों के देव महादेव हैं !
5. इसलिए तो हम शिव,राम कृष्ण को पूजते हैं, राहु केतु, रावण या कंस को नहीं !
6. जब हमारे भगवान का जीवन सरल नहीं था तो हम तो मनुष्य हैं !
7. अगर हमारे जीवन में संघर्ष लिखा है तो हम साधारण भी नहीं है !


चाणक्य नीति:-  संकट में सिर्फ यही 2 चीजें काम आती है

दोस्तों इंसान का समय हर वक्त अच्छा ही रहेगा ऐसा कहना मुश्किल ही नही बल्कि नामुमकिन है। क्योंकि कोई भी इंसान किसी के भविष्य को कभी नही बदल सकता। कब किसके परीक्षा की घड़ी आ जाये ये कहना बहुत ही मुश्किल है। इंसान जब भी कभी संकट में घिर जाता है तो उसके काम सिर्फ यही 2 चीजें आती हैं। यदि आप भी जानना चाहते हैं कि वे 2 चीजें क्या हैं तो फिर इस पोस्ट को ध्यान से पढ़ना बिल्कुल न भूलें।

1. बात करें अगर पहले चीज की तो वो है बुद्धि। जी हां बुद्धि एक ऐसी चीज है जो संकट के समय हमें सही रास्ता दिखाती है और इसी के चलते हम फिर से अपने बुरे समय को ठीक कर सकते हैं।

2. बात करें अगर दूसरे चीज की तो वो है धैर्य। जी हां धैर्य एक ऐसी चीज है जो ज्यादातर संकट के समय मे ही इंसान खो देता है और इसका बहुत ही बुरा प्रभाव बाद में देखने को मिलता है। इसलिए यदि आप धैर्य को बना कर रखेंगे और जल्दबाजी में कुछ गलत काम नही करेंगे तो यकीनन आप घिरे हुए संकट से एक बार फिर से निकल सकते हैं।

जरुर पढ़े: 

 

दुःख पर महत्वपूर्ण अनमोल कथन ! SAD QUOTES { in Hindi }

विश्व के सर्वश्रेष्ठ अनमोल विचारों का विशाल संग्रह Hindi Quotes

क्या चीज़ हो आप दुनिया को बताना होगा

 

दोस्तों आपको यह Post किसी लगी हमे Comment के माध्यम से जरूर बतायें । ऐसी ही अच्छी अच्छी Post पड़ने के लिए Bell Icon को दबा कर हमे Subscribe जरूर करें । जिसका फायदा यह है कि जब भी हम कोई नया Article Upload करेंगे तो आपको उस का Notification मिल जायेगा । आपका दिन शुभ हो ।



NOTE ⇒ हमारा उद्देश्य ज्ञान को बांटना (share) है और यह काम हम अकेले नहीं कर सकते क्योंकि इस दुनिया का सारा ज्ञान हमारे पास नहीं है और हम भी आपकी तरह एक ही सामान्य व्यक्ति है जो दिन में खुली आँखों से सपने देखते है और उन्हें पूरा करने के लिए कोशिश करते रहते है | दोस्तों ज्ञान बांटने से बढ़ता है इसलिए आप भी HINDI के इस अनमोल मंच से जुड़े एंव अपने ज्ञान को हमारे साथ share करें, हम आपके द्वारा भेजे गए सभी अच्छे लेखों को Website पर publish करेंगे| आप अपने लेख हमें Whattsapp Number ( 85569-78342 ) पर भेज सकते है |



Share Now

Post Author: sudhir singhmar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *