आपकी इस आदत से दुखी होते हैं श्रीकृष्ण, बहाते हैं आंसू ! Montivational life lesson by lord Krishna

MOTIVATIONAL LIFE LESSON BY LORD KRISHNA !


हमारा उद्देश्य ज्ञान को बांटना (share) है और यह काम हम अकेले नहीं कर सकते क्योंकि इस दुनिया का सारा ज्ञान हमारे पास नहीं है और हम भी आपकी तरह एक ही सामान्य व्यक्ति है जो दिन में खुली आँखों से सपने देखते है और उन्हें पूरा करने के लिए कोशिश करते रहते है | दोस्तों ज्ञान बांटने से बढ़ता है इसलिए आप भी HINDI के इस अनमोल मंच से जुड़े एंव अपने ज्ञान को हमारे साथ share करें, हम आपके द्वारा भेजे गए सभी अच्छे लेखों को Website पर publish करेंगे| आप अपने लेख हमें Whattsapp Number ( 85569-78342 ) पर भेज सकते है |


ईश्वर ने मनुष्य को अनगिनत उपहार दिये है .. ज़रूरत है उन्हे समझने की.. यँहा तक की वो मानव से महामानव भी बन सकता है .. और ओ सब कूछ कर सकता हे जो वो चाहता है


जय श्री कृष्णा


दोस्तों भगवान श्री कृष्ण जिनका नाम लेते ही मन प्रसन्न हो जाता है | कृष्ण के बारे में सोचते ही मन में सुंदर मोहक और प्रसन्न चित्र छवि दिखाई देती है, लेकिन क्या आप जानते हैं हमारी वजह से उदारता और प्रसन्नता के प्रतीक भगवान श्रीकृष्ण दुखी होते हैं और उनकी आंखों से आंसू बहने लगते हैं |

इस बात का का वर्णन स्वयं भगवान श्री कृष्ण ने महाभारत युद्ध के दौरान किया था | महाभारत के युद्ध के दौरान एक समय दुखी होकर आंखों में आंसू भर कर भगवान श्री कृष्ण कहते हैं कि मनुष्य समाज स्त्रियों को सदा ही शोषण अन्याय और अपमान दिया है |

आप चाहे अपने आसपास देखें या पुराने से पुराने इतिहास को देख ले यही दिखाई देगा कि पुरुषों की ईर्ष्या लालसा अहंकार दुश्मनी इन सभी बुरी भावनाओं का परिणाम स्त्रियां भोगती हैं | किसी से भी दुश्मनी युद्ध और झगड़े पुरुष  करते है और गलत उनकी स्त्रियों के साथ किया जाता है |

शराब और जुए की लत की यादों के चलते अपना सब कुछ पुरुष गवाते  है, भूख स्त्रियों के हिस्से में आती है | अगर पुरुष का अहंकार जाग जाए तो बंधन स्त्रियों के सुख और और आजादी पर लगाई जाती है | पुरुष जीवन से हार कर परिवार का त्याग कर दे तो अपने बच्चों के भविष्य के लिए संघर्ष भी स्त्रियां करती हैं | संसार के सभी दुखों की गिनती करेंगे तो यही पाएंगे कि पुरुषों की तुलना में स्त्रियां ही अधिक दुख मुक्ति है | यह कैसी दुनिया है जहां मनुष्य का आधा भाग स्त्री के आधे भाग को कुचलने में लगा रहता है | अन्याय सहने वाली वही स्त्रियां भविष्य को जन्म देती हैं |


यह भी पढ़े ⇒  जान ला दो या फिर जाने दो | MOTIVATION { in hindi } 2018


ईश्वर ने तो कुछ और ही चाहा था अपने आसपास मौजूद प्रकृति को देखिए नए वृक्ष को जन्म देने वाले बीज के आस-पास ईश्वर ने सुंदरता स्वच्छ फूलों की पंखुड़ियां निर्मित की और रंगों और और सुंदरता से उन्हें भर दिया क्योंकि जहां भविष्य का निर्माण होना है, वहां तो केवल सुंदरता सुख संतोष और सम्मान ही होना चाहिए, लेकिन मनुष्य स्त्रियों को दुख देकर सारे भविष्य को दुखों से भर देता है

अपमान शोषण पीड़ा अभी से झुलसती हुई स्त्रियां स्वस्थ और सुखी संतान को जन्म कैसे दे सकती है अर्थात जब जब किसी स्त्री का अपमान होता है किसी स्त्री का शोषण किया जाता है तब तब किसी न किसी रूप में युद्ध बर्बादी यानी की महाभारतका आरंभ होता ही है |

इस का वर्णन भगवान् श्री कृष्णा ने खुद किया है |



यह भी पढ़े ⇒ 

वह जो आपने 12 सालो की पढ़ाई में भी नहीं सीखा होगा | WORLD’S BEST MOTIVATION EVER | LATTEST 2018

बड़ी से बड़ी परेशानी चुटकियों में हल कर देगी श्रीकृष्ण की बताई ये 1 बात। Lesson of lord krishna

अच्छे लोग हमेशा दुःख और परेशानियां क्यों पाते हैं, क्या आप जानते हैं । TOP BEST MOTIVATION 2018

भगवद् गीता 27 प्रेरक अनमोल वचन, जो जीने की राह दिखाते है ! TOP 27 BHAGVAT GEETA QUOTES { IN HINDI }

ज़िंदगी इंसान को कुछ बनने के कुछ कर दिखाने के कितने मौक़े देती है | HINDI MOTIVATIONAL SPEECH 2018

ज़िंदगी में अगर कुछ करना चाहते हो तो इस 1 चीज़ को आज ही छोड़ दें । 

सुप्रभात के अनमोल वचन, जो जीने की कला सिखायें ! TOP 2018 ANMOL VACHAN



 

Share Now

Post Author: sudhir singhmar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *